Anupama Written Update 7th July 2023 Episode

anupama written update on tvchaska.com

Anupama Written Update 7th July 2023 Episode : वनराज अनुपमा से कहता है कि जिंदगी उसे अक्सर कठिन परिस्थिति में डाल देगी, लेकिन उसे अब किसी भी कीमत पर रुकना नहीं चाहिए। अनुपमा कहती है कि वो सही कह रहा है कि जिंदगी उसे बार-बार कठिन परिस्थिति में डालेगी, लेकिन इस बार वो किसी भी कीमत पर नहीं रुकेगी।
इस स्थिति में उसके लिए अपने पति और बेटी को छोड़ना मुश्किल है, लेकिन पीछे हटना उससे भी अधिक कठिन है और इसलिए वह किसी भी कीमत पर अमेरिका जाएगी। अनुज उनकी बातचीत सुनकर मुस्कुराता है। वनराज कहता है कि उसने सही निर्णय लिया और वहां से चला जाता है ।

गुरुकुल में गुरुमां अनुपमा का बेसब्री से इंतजार करती हैं ,तभी नकुल उन्हें बताता है कि माया की एक सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो गई। गुरुमाँ माया की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करती हैं। नकुल उन्हें बताता है कि कपाड़िया फॅमिली ने आज माया की शोक सभा रखी है। गुरुमाँ कहती हैं कि उन्हें वह जाना चाहिए।

कपाड़िया हाउस में छोटी अनु अपने कमरे का दरवाज़ा नहीं खोलती है तो अनुज घबरा जाता है और अनुपमा को बताता है। सभी लोग छोटी अनु के कमरे की ओर दौड़ते है। अनुज और वनराज दरवाजा तोड़ देते है ,कमरे के अंदर वे छोटी अनु को माया की तस्वीरें पकड़कर सोते हुए और नींद में माँ बड़बड़ाते हुए पाते हैं। अनुपमा भावुक हो जाती है, उसके पास लेट जाती है और कहती है कि मम्मी उसकी बेबली के साथ है।

छोटी अनु नींद में अनुपमा को माया समझके गले लगा लेती है और कहती है कि उसे लगा कि उसने उसे हमेशा के लिए छोड़ दिया है, अब वो उससे फिर से दूर न जाये, मम्मी को चोट पहुंचाने के लिए उस पर गुस्सा करने के लिए उसे खेद है, आदि। अनुपमा रोने लगती है, छोटी अनु जाग जाती है और पूछती है कि माया माँ कहाँ है। वह माया को फोन करती है और अनुज से मां को बुलाने के लिए जिद्द करने लगती है क्योंकि वह उससे माफी मांगना चाहती है। अनुज उसे शांत करने की कोशिश करता है, लेकिन वह नियंत्रण से बाहर हो जाती है।

गुरुमाँ नकुल के साथ कपाड़िया हाउस में शोक सभा में पहुँचती हैं और एक अतिथि से पूछती हैं कि परिवार के लोग कहाँ है। अतिथि बताता है कि वे सब छोटी अनु के कमरे में गए हैं, उसे कुछ हुआ है , वो करे का दरवाजा नहीं खोल रही , गुरुमाँ कहती हैं कि वे भी वहाँ जायेंगे। नकुल पूछता हैं कि क्या वहां जाना सही रहेगा ?

छोटी अनु माया से मिलने कि जिद्द जारी रखती है , अनुज कहता है कि माया हमेशा के लिए चली गई है और वापस नहीं आएगी। छोटी अनु अनुपमा को गले लगाती है और पूछती है कि क्या वह भी उसे छोड़ देगी। ये सब होते हुए गुरुमाँ देख लेती है , नकुल कहता हैं कि उन्हें वहां नहीं आना चाहिए था।

अनुपमा गुरुमाँ को देखती है , गुरुमाँ कहती हैं कि उन्होंने माया के बारे में सुना और इसलिए उनसे मिलने आए। वह अनुपमा को याद दिलाती है कि उसे एक दिन बाद यूएसए जाना है और पूछती है कि क्या वह ऐसा कर पायेगी ? अनुपमा छोटी अनु की बातें याद करती है , तभी वनराज गुरुमाँ को आश्वासन देता है कि अनुपमा समय पर एयरपोर्ट पहुँच जाएगी। अनुज भी कहता है कि छोटी अनु कुछ दिनों में समझ जाएगी।
गुरुमाँ अनुपमा से पूछती हैं कि वनराज ने जो कहा वह होगा या नहीं ? अनुपमा कहती है कि वो समय पर एयरपोर्ट पहुंच जाएगी। गुरुकुल वापस आकर, नकुल गुरुमाँ को बताता है कि उसने यूएसए के टिकट ,अमेरिका में रहने कि जगह सब चेक कर लिया हैं। गुरुमाँ कहती हैं कि उनका अनुपमा के साथ दिल का रिश्ता है और वह अब उसकी मनःस्थिति को समझती हैं। नकुल कहता है कि उसे यकीन है कि अनुपमा अपना वादा पूरा करेगी। गुरुमाँ कहती हैं कि अगर अनुपमा ने ऐसा नहीं किया, तो उसने अब तक उसका नटराज अवतार/रूप देखा है पर फिर वो उसका रौद्र अवतार देखेगी।

शाह परिवार छोटी अनु को खाना खिलाने की कोशिश करते हैं, लेकिन वो नहीं खाती और माया से मिलने की जिद्द करती है।

अनुपमा अनुज से यह कहते हुए दोषी महसूस करती है कि माया की मृत्यु उसकी वजह से हुई और जब छोटी अनु को इसके बारे में पता चलेगा तो क्या होगा। अनुज कहता हैं कि इसके बारे में केवल वे ही जानते हैं और किसी को पता नहीं चलेगा; यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि बचाने की कोशिश में माया की मृत्यु हो गई, लेकिन वह इसके लिए खुद को दोषी नहीं ठहरा सकती; उसे इसे भूलकर अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। अनुपमा पूछती है कि अगर दूसरों को इसके बारे में पता है तो क्या गलत है। अनुज कहता है कि वह नहीं चाहता कि वह अपराधबोध के साथ जिए और इसके बारे में कभी नहीं सोचने का वादा करता है। वह कहता है कि वह छोटी अनु को संभालेगा और उसे यूएसए जाने पर ध्यान केंद्रित करने के लिए कहता है। बरखा छिपकर उनकी बातचीत सुन लेती है।

PRECAP: अनुपमा को माया की दुर्घटना और छोटी अनु की प्रतिक्रिया के बारे में एक बुरा सपना आता है। बरखा अनुज से पूछती है कि अनुपमा क्यों दोषी महसूस कर रही है जैसे कि माया कि जान उसकी वजह से गई है। अनुज कहता है कि वह नहीं चाहता कि छोटी अनु को इसके बारे में पता चले और अनुपमा के खिलाफ नकारात्मक धारणा बनाये। छोटी अनु ये बात सुनती है और नीचे गिर जाती है। अनुज उसकी ओर दौड़ता है।


Leave a Comment