Anupama Written Update 6th July 2023 Episode : Anupama Stucks Between Choti Anu And Her Dream.

anupama written update on tvchaska.com

Anupama Written Update 6th July 2023 Episode : माया की शोक सभा के दौरान अनुपमा को माया के एक्सीडेंट से पहले की घटना याद आती है। वह माया द्वारा लौटाई गई भगवान की मूर्ति को देखती है। अनुज उसका हाथ पकड़ता है और उसे सांत्वना देता है।

बरखा अंकुश से कहती है कि यह बहुत अचानक और चौंकाने वाला है , अंकुश कहता है कि कोई नहीं जानता कि उनके जीवन में कितना समय बचा है। बरखा को शक होता है कि माया का एक्सीडेंट अनुज ने तो नहीं करवाया , क्योंकि वह माया के नाटक से परेशान था और उससे छुटकारा पाना चाहता था। अंकुश कहता है कि वह भी बरखा से छुटकारा पाना चाहता है , बरखा उसे बोलने से पहले सोचने के लिए कहती है। अंकुश कहता है कि उसे भी बोलने से पहले सोचना चाहिए।

शाह हाउस में लीला कहती है कि अनुज को माया को पागलखाने में भर्ती कराना चाहिए था। डिंपी को लगता है कि आम तौर पर लोग RIP, नुकसान के लिए खेद आदि कहते हैं, लेकिन यह परिवार सिर्फ बहस करता है। किंजल को छोटी अनु के लिए बुरा लगता है। तोशु कहता है कि वह अनुज और अनुपमा के लिए चिंतित है। लीला कहती है कि उसे नहीं लगता कि अनुपमा इस बार भी अमेरिका जा पायेगी क्योंकि उसे छोटी अनु की देखभाल करनी है।

वनराज कहते हैं कि इस बार अनुपमा को किसी के लिए रुकना नहीं चाहिए। काव्या कहती है कि वह छोटी अनु की देखभाल करेगी। किंजल कहती है कि छोटी अनु को अच्छा लगेगा अगर वह परी और मीनू के साथ रहेगी। डिंपी को लगता है कि वे खुद को और अपने बच्चों को नहीं संभाल सकते और दूसरे के बच्चों को संभालना चाहते हैं।

डिंपी कहती है कि उन्हें शोक सभा के लिए निकना चाहिए। तभी समर कहता है कि गाड़ी में जगह नहीं होगी तो सभी कार में जाइये ,जबकि वह और डिंपी बाइक से आएंगे। परिवार चला जाता है।

डिंपी गुस्से में समर से पूछती है कि उन्हें ही क्यों हर बार बारिश में भीगते हुए बाइक पर जाना पड़ता है , समर कहता है कि अभी कहाँ बारिश हो रही है। डिंपी कहती है कि वो ही क्यों धूप और खराब मौसम सहे और अपना मेकअप और बाल ख़राब करे। समर कहता है कि ठीक है वो परिवार कार में चले जाये, वो और तोशु बाइक पर आ जायेंगे।

डिंपी कहती है कि इसकी कोई जरूरत नहीं है और वह खुद को पीड़ित और बेचारी बनाने और शाह परिवार को अपराधी बताते हुए समर से लड़ना शुरू कर देती है। समर चिढ़ जाता है। डिंपी परिवार के हर सदस्य खासकर अनुपमा के खिलाफ जहर उगलती रहती है। वह अंत में कहती है कि उसे नहीं लगता कि अनुपमा ऐसी परिस्थिति में अमेरिका जाएगी। समर कहता है कि अनुपमा किसी भी कीमत पर अमेरिका जाएगी। डिंपी बड़बड़ाती है कि उसे 100% यकीन है कि अनुपमा नहीं जाएगी और शाह गलत हैं।

कपाडिया हाउस में पानी का गिलास भरते समय अनुज विचारों में खो जाता है, अनुपमा उसे पानी पिलाती है। अनुज कहता है कि दूसरों की तरह उसे भी माया पर गुस्सा आता था, लेकिन उसने कभी उसके लिए बुरा नहीं सोचा। अनुपमा कहती हैं कि वे सपने में भी किसी के लिए बुरा नहीं सोच सकते, खासकर अपनी बेटी की मां के लिए। अनुज बताता है कि माया की मौत उसी तरह हुई जैसे उसके माता-पिता की एक दुर्घटना में हुई थी।
अनुपमा माया की मौत के लिए खुद को दोषी मानती है और कहती है कि छोटी अनु ने उसकी वजह से अपनी मां को खो दिया , अनुज उसे समझाता है कि यह उसकी गलती नहीं है। अनुपमा कहती है कि अगर वह सड़क पार करते समय सावधानी बरतती तो माया ट्रक के नीचे नहीं आती। अनुज कहता है कि यह सब बहाना है, लोग चले जाते हैं जब उनका समय समाप्त हो जाता है। अनुपमा उसे सुर्री सुर्री/सॉरी कहती है और उसे गले लगा लेती है।

शाह परिवार कपाड़िया हाउस पहुंचते है ,और शोक सभा में शामिल होते है। पाखी वनराज को गले लगाकर रोती है। वनराज पूछता है कि क्या वह ठीक है , वह हाँ में सिर हिलाती है। पाखी कहती है कि छोटी अनु को कोई संभल नहीं पा रहा था और उसे सिर्फ अनुपमा ने ही शांत करके सुलाया।

बरखा कहती है कि छोटी अनु ने एक माँ को खो दिया है और उसकी दूसरी माँ भी अमेरिका चली जाएगी, उसकी किस्मत में माँ का प्यार नहीं है। यह सुनकर अनुपमा परेशान हो जाती है और एक तरफ चली जाती है। वनराज उसे पानी देता है और अनुपमा से पूछता है कि वह अब क्या करेगी क्योंकि अमेरिका जाने में सिर्फ 2 दिन बाकि है। अनुपमा छोटी अनु से किये हुए वादे को याद करती है , कि जब भी उसे जरूरत होगी वह सब कुछ छोड़कर दुनिया से लड़कर उसके पास वापस आ जाएगी।
पर वनराज से वो कहती हैं कि उसने अपना फैसला नहीं बदला है। वनराज पूछता है कि छोटी अनु के बारे में क्या? अनुपमा कहती है कि वह नहीं जानती कि क्या करना है और कहती है कि वो छोटी अनु को देखकर आती है। वनराज उसे बुलाता है और वह रुक जाती है , वनराज कहता है कि जैसे वह अब रुक गईं, वैसे उसे किसी भी कीमत पर USA जाने से नहीं रुकना चाहिए।

PRECAP: छोटी अनु माया के लिए रोती है , उससे मिलने कि जिद्द करती है ,अनुज समझाता है कि माया अब वापस नहीं आ सकती।
वही गुरुकुल में नकुल गुरुमाँ से पूछता है कि क्या होगा अगर अनुपमा अमेरिका नहीं जा सकी तो ?
गुरुमाँ कहती हैं कि अनुपमा ने अब तक उसका नटराज रूप देखा है और अगर वो उस नहीं चली तो फिर वो उसका रौद्र/क्रोधित रूप भी देखेगी।
अनुपमा अनुज से पूछती है कि जब छोटी अनु को पता चलेगा कि उसकी वजह से उसकी मां की मृत्यु हो गई तो उसकी क्या प्रतिक्रिया होगी। अनुज समझाता है कि इसके बारे में केवल वे दोनों ही जानते हैं और कोई नहीं। बरखा उनकी बातचीत सुनती है।


Leave a Comment