Anupama Written Update 18 July 2023 Episode

Anupama Written Update 18 July 2023 Episode : आज के एपिसोड में अनुपमा गुरुमा से कहती है कि उसकी जगह कोई और मां होती तो वो भी ऐसा ही करती , वह कहती हैं कि मां हमेशा अन्य चीजों की तुलना में बच्चे को ही चुनेंगी। अनुपमा कहती हैं कि चाहे वह काव्या जैसी आधुनिक मां हो या बा जैसी पुराने जमाने की मां; दोनों ही किसी भी चीज से पहले अपने बच्चे को चुनेगी। अनुपमा अपना भाषण जारी रखती है और कहती है कि माँ के लिए बच्चा ही उसकी दुनिया होती है।

मालती देवी ताली बजाती है और अनुपमा के इर्द गिर्द घूमते हुए उसे कटाक्ष मारते हुए उसका नाम लेती है। वह कहती है कि अनुपमा ने उसे बर्बाद कर दिया, और उसके माँ होने की कीमत वो क्यों चुकाए। वह अनुपमा पर बरसती है। मालती देवी अनुपमा से कहती है कि किसी ने उसे मजबूर नहीं किया था, तुमने अपनी मर्जी से कॉन्ट्रैक्ट साइन किया था। मालती देवी अनुपमा को न समझ पाने अँधा भरोसा करने के लिए अफ़सोस जताती है।

गुरुमा आगे अनुज पर आरोप लगाते हुए कहती है की तुमने ही अनुपमा को रोका होगा। अनुपमा ये साफ़ कर देती है की अनुज या किसी ने भी उसे नहीं रोका , वो अपनी मर्जी से नहीं गई है।

वह कहती हैं कि शाह फॅमिली, कपाड़िया फॅमिली या अनुज में से किसी ने भी उसे जाने से नहीं रोका। अनुपमा बताती है कि माया ने उसे रोक दिया था। वह माया की मौत के लिए खुद को जिम्मेदार बताती है और दुर्घटना के बारे में खुलासा करती है। वहाँ मौजूद सभी लोग हैरान रह जाते है। अनुपमा कहती है कि अगर माया ने उसे नहीं बचाया होता तो वह उसी दिन मर जाती। वह माया की मृत्यु को स्वीकार करती है और कहती है कि माया ने अपने जीवन का बलिदान दिया और वो आज उसकी वजह से जिन्दा है, इसलिए अनु की देखभाल कि जिम्मेदारी उसकी है।

अनुपमा गुरुमा से कहती है कि वह उनके गुस्से को स्वीकार करती है और उनके द्वारा दी गई सजा के लिए भी तैयार है।

अनुपमा खुलासा करती है कि माया ने उसे कैसे रोका; फ्लैशबैक में : माया की आत्मा अनुपमा से अनु के साथ रहने का अनुरोध करती है। अनुपमा माया से पूछती है कि वह यहां कैसे आई। माया कहती है कि जब तक वह अनु को उसकी यशोदा मां को नहीं सौंप देगी तब तक वह कैसे जा सकती है। अनुपमा माया से कहती है कि अनु के पास अनुज और परिवार के अन्य सदस्य हैं। माया कहती है कि एक माँ के अलावा कोई भी बच्चे की देखभाल नहीं कर सकता।

वह अनुपमा से छोटी अनु की खातिर अपने सपने का बलिदान देने की विनती करती है। माया अनुपमा से कहती है कि वो छोटी अनु के पास लौट जाए , नहीं तो वो बच्ची मर जाएगी। अनुपमा स्तब्ध रह जाती है।

फ्लैशबैक खत्म ,वर्तमान में वापस; बरखा डिंपल से कहती है कि यहाँ तो अलग ही कहानी चल रही है। डिंपल कहती है कि वह नहीं जानती थी कि अनुपमा झूठ भी बोलती है।

अनुपमा कहती है कि अनु की आवाज उसके कानों में गूंज रही थी , माया भी विनती कर रही थी इसलिए उसे वापस आना पड़ा। अनुपमा कहती है कि यह उसका अपराध बोध था या कुछ और लेकिन वह माया के अनुरोध को नजरअंदाज करने में विफल रही।

Precap: लीला कहती है अनुपमा ने जो किया वो सही किया या नहीं पर मल्टी देवी अब जो भी करेगी वो गलत ही करेगी। वनराज कहता है वो जो भी करेगी उसका सीधा असर हम सब पर आएगा। अनुज अंकुश से कहता है कि वो किसी भी कीमत पर मल्टी देवी को अनुपमा का बाल भी बांका नहीं करने देगा। मल्टी देवी कहती है कि अनुपमा को लगता है माँ होना उसकी सबसे बड़ी ताकत है लेकिन वो ही उसकी सबसे बड़ी कमजोरी है।


Leave a Comment