Anupama 22 जून 2023 Written Update: अनुपमा रिटन अपडेट

Anupama 22 june written episode

डिंपी बरखा को मैसेज करती है कि वो और समर कपाड़िया हाउस में शिफ्ट होना चाहते हैं , बरखा सोचती है कि अनुज और माया पहले से ही घर में रह रहे हैं और अगर डिंपी और समर भी यहां शिफ्ट हो गए, तो यह घर चिड़ियाघर बन जाएगा, और वैसे भी उसकी लाइफ में कई परेशानिया हैं और एक और परेशानी नहीं संभाल सकती, डिंपी को शाह हाउस में ही रहना होगा।

बरखा डिम्पी को रिप्लाई करती है कि उसे किसी भी कीमत पर शाह हाउस में ही रहना चाहिए क्योंकि यह उसके लिए फायदेमंद होगा। अनुपमा शाह हाउस से निकलने वाली होती है कि चालाक डिंपी अनुपमा से माफी मांगती है और कहती है कि वह अपने गुस्से पर काबू नहीं कर पाती है, लेकिन वह अपने तरीके सुधार लेगी और इस घर के तरीके सीख लेगी।

अनुपमा डिम्पी से कहती है की उसे बा से माफी मांगनी चाहिए ,क्योंकि उसने उनके साथ बदतमीजी की थी, और वो घर भी बा का ही है। डिंपी लीला से माफी मांगती है और कहती है कि प्लीज़ उन्हें उस घर में रहने दीजिये, क्योंकि परिवार उसके और समर लिए बहुत मायने रखता है और वे परिवार से दूर नहीं रह सकते। पर ये सब सुनकर भी लीला चुप खड़ी रहती है।

डिंपी सोचती है कि उसे किसी भी तरह उन्हें मनाना होगा। तभी बरखा शाह हाउस में पगफेरा रसम के लिए शगुन भेजती है, और लीला को कॉल करके बोलती है की उसने उन्हें पगफेरा की रस्म के लिए डिंपी को बुलाने के लिए कॉल किया है। लीला कहती है कि वह डिंपी को भेज देगी ,तभी बरखा कहती है कि अगर समर व्यस्त है, तो वह डिंपी को पाखी के साथ भेज सकती है।

लीला पूछती है कि उसे कैसे पता चला कि पाखी शाह हाउस में है ? तभी डिंपी बात को सँभालते हुए कहती है कि उसने ही बरखा को बताया था। अनुपमा कहती है कि डिंपी पाखी के साथ जा सकती है और पाखी को कपाड़िया हाउस में डिम्पी के साथ भाभी की तरह नहीं बल्कि ननद कि तरह व्यवहार करने की हिदायत देती है। और साथ ही समर और डिंपी को चेतावनी देती है कि अगर वे फिर से किसी के साथ दुर्व्यवहार करते हैं, तो उसे भले ही अमेरिका से 2 दिन के लिए आना पड़े तो वो आएगी और उन्हें घर से निकाल देगी।

दूसरी और कपाड़िया हाउस में अनुज को यह सोचकर दुख होता है कि अनुपमा के USA शिफ्ट होने में केवल 5 दिन बचे हैं। माया सोचती है कि उसने अनुज को अपने करीब लाने की कोशिश में उसे और दूर कर दिया है, अब उसे कुछ करना होगा और अनुज को अपने करीब लाना होगा।
सबके जाने के बाद समर डिंपी को गले लगाता है और कहता है कि अच्छा हुआ जो उसने समझदारी दिखाई और सबसे माफ़ी मांगकर बात को संभाल लिया। डिंपी मन ही मन सोचती हैं कि कल वह अपनी आगे के प्लान के बारे में बरखा के साथ अच्छे से डिसकस करेंगी, पर फ़िलहाल उसे यहां अपने खेल को और अधिक सावधानी से खेलने की जरूरत है।

वनराज अनुपमा के साथ उसे उसके साथ घर छोड़ने के लिए चलता है और कहता है कि आज माया का नाटक देखकर उसे एहसास हुआ कि अनुज ने माया की देखभाल करने का फैसला क्यों लिया; जीवन का त्याग करना और हर दिन अपनी इच्छाओ को मारकर मरना कोई आसान काम नहीं है। अनुपमा कहती है कि उसका अनुज ही यह कर सकता है। वनराज कहता है कि वह चाहता है कि उसके और अनुज के बीच सब ठीक हो जाए। अनुपमा कहती है कि वह भी चाहती है कि वनराज और काव्या के रिश्ते भी सुधर जाए और पूछती है कि क्या वह काव्या से मिला था ? वनराज कहता है कि अब वे अक्सर मिलते हैं और भावनात्मक रूप से काफी करीब आ रहे हैं, और अब वो चाहता हैं कि काव्य जल्द ही घर लौट आए। अनुपमा कहती हैं कि उन्हें काव्या को कुछ समय देना चाहिए, और इस तरह वे बाते करते करते कांता बेन (अनुपमा की माँ) के घर पहुंच जाते है।

वनराज सालों पहले अनुपमा को अमेरिका जाने से रोकने के लिए माफी मांगता है और कहता है कि वह उस अपराध बोध के साथ नहीं जीना चाहता, अनुपमा कहती है कि वह भी उसे माफ न करने के अपराध बोध के साथ नहीं जी सकती, तो चलिए अतीत को भूल जाएं और भविष्य पर ध्यान देंते है , काव्या और उनके होने वाले बच्चे को उसके ध्यान और प्यार की जरूरत है।

वनराज कहता है कि वह अपने चारों बच्चों के प्रति अपनी सभी जिम्मेदारियों को पूरा करेगा। तभी उसे ध्यान आता है कि रात के 12 बज गए है तो वो अनुपमा से कहता है कि अब उसके पास अमेरिका जाने के लिए केवल 5 दिन बचे हैं। अनुपमा कहती है कि उसके पास 120 घंटे हैं और वह उत्साहित महसूस करती है, और उसे शुभरात्रि की शुभकामनाएं देती है और घर के अंदर चली जाती है।

अगली सुबह, डिंपी पगफेरा की रस्म के लिए जाने के लिए तैयार हो जाती है, किंजल उसे देखकर उससे कहती है कि डिंपी सुंदर दिख रही है। लीला डिंपी की नज़र उतारती है। तभी अनुपमा भी शाह हाउस पहुंच जाती है, और कहती है कि वह अपने बहु-बेटे की पघफेरा रस्म को कैसे भूल सकती है।

पाखी भी जाने के लिए तैयार हो जाती है। अनुपमा डिंपी और पाखी को सलाह देती है कि वे दोनों फिर से दोस्ती कि एक नई शुरुवात करने की कोशिश करे और लड़ाई न करें। डिंपी कहती हैं कि कपाड़िया हाउस से लौटते वक़्त कुछ गिफ्ट्स और उसका कपाडिया हाउस में छूटा हुआ सामान भी वो साथ लेकर आएगी तो वो उम्मीद करती है कि घर में वो सब कुछ रखने के लिए जगह मिल जाएगी। किंजल उसे कहती है कि सब मैनेज हो जायेगा वो चिंता न करे। अनुपमा पाखी की आरती उतारती है और एक नई शुरुआत के लिए उसे शुभकामनाएं देती है। फिर डिंपी और पाखी कपाड़िया हाउस जाने के लिए निकल जाते हैं। वनराज और किंजल अनुपमा के सबको आसानी से समझाने के उसके टैलेंट कि तारीफ करते है जिससे अनुपमा शर्मा जाती है।

कपाड़िया हाउस में सभी पघफेरे रसम की तैयारिया करते हैं, तभी अनुज माया को तैयारिया करते देखता है तो वो बरखा और उसके भाई से व्यवस्था संभालने के लिए कहता है, तो माया कहती है कि जैसे ही उनकी बेटी (डिम्पी) आएगी तो वो सब कुछ संभाल लेगी। अनुज गुस्से में उससे कहता है कि वो बीमार है और उसे आराम करना चाहिए।

माया कल की घटना के लिए उससे माफी मांगती है और कहती है कि वह उसकी माफी के लिए कुछ भी कर सकती है। वह अनुज के पैर में गिरकर माफ़ी मांगने कि कोशिश करती है और कहती है कि अगर वह चाहे तो अनुपमा से भी माफी मांग लेगी। अनुज उसे उठने के लिए कहता है और गुस्से में उसे ये सारा नाटक बंद करने के लिए कहता है, वह कहता है कि वो अब उसकी बकवास को बर्दाश्त नहीं कर सकता है और उसे इसे बंद कर देना चाहिए और गुस्से में वह से चला जाता है।

शाह हाउस में तोशु घर के हॉल में आता है और पूछता है कि क्या डिंपी और पाखी चले गए, अनुपमा बताती है कि हां चले गए। तभी तोशु कहता है कि वो एक जरूरी अनाउंसमेंट करना चाहता है , वो आगे कहता है कि उन्हें यनि कि तोषु , किंजल और परी को दूसरे घर में शिफ्ट हो जाना चाहिए।

PRECAP: नकुल एक फूलदान में कांच के टुकड़े छुपाता है ,और उसके और अनुपमा के प्रदर्शन के दौरान फूलदान गिरा देता है। जिससे अनुपमा नाचते हुए उन कांच के टुकड़ो पर पैर रख देती है जिससे उसे पेरो में चोट लग जाती है और वो घायल हो जाती है।


Leave a Comment